समर्थक

बुधवार, अक्तूबर 16, 2013

18 अक्टूबर से आरंभ होगा द्वितीय आजमगढ़ फिल्मोत्सव

आजमगढ़ : अंधविश्वास के खिलाफ खुद की आहुति देने वाले डा. नरेंद्र दाभोलकर एवं फिल्मों में प्रतिरोध का स्वर मुखर करने वाले बलराज साहनी को समर्पित दूसरा आजमगढ़ फिल्मोत्सव 18 अक्टूबर को कलेक्ट्री कचहरी स्थित नेहरू हाल में शुरू होगा। कार्यक्रम का उद्घाटन दोपहर दो बजे प्रसिद्ध चित्रकार एवं कला विशेषज्ञ अशोक भौमिक करेंगे। इसके साथ ही कार्यक्रम में जन संस्कृति मंच के महासचिव प्रणय कृष्ण एवं फिल्मकारों के समूह छह ग्रुप के राष्ट्रीय संयोजक संजय जोशी सहित कई फिल्मी व साहित्यिक हस्तियां शामिल होंगी।
यह जानकारी संयोजक डा. विनय सिंह यादव व आयोजन समिति के अध्यक्ष विजय बहादुर राय ने दी है। उन्होंने बताया कि प्रतिरोध का सिनेमा के अंतर्गत होने वाले इस 34वें आयोजन के पहले दिन बलराज साहनी अभिनीत फिल्म 'गरम हवा' का प्रदर्शन होगा। दूसरे दिन यूसुफ सईद और नकुल साहनी की फिल्मों का प्रदर्शन उनकी उपस्थिति में होगा। उसके बाद दोनों फिल्मकार दर्शकों से रूबरू होकर उनके सवालों का जवाब देंगे। फिल्मोत्सव का तीसरा दिन बच्चों को समर्पित होगा। इसमें सुबह साढ़े नौ बजे बच्चे अपनी पसंद का चित्र बनाएंगे। इसके लिए सामग्री फिल्म महोत्सव समिति उपलब्ध कराएगी। बच्चों द्वारा बनाए गए चित्रों का प्रदर्शन आयोजन स्थल पर किया जाएगा। इसके बाद संजय मट्ट की 'किस्से और कहानियां', बाल फिल्म 'गट्टू' एवं शार्ट फिल्म 'स्टोरी ऑफ स्टफ' का प्रदर्शन किया जाएगा। तीसरे दिन उत्तराखंड में आई आपदा का जिक्र किया जाएगा। इसमें इंद्रेस मैखुरी, मदन चमोली, अतुल सती दर्शकों से रूबरू होंगे। कार्यक्रम का समापन रविवार को सायं सवा सात बजे डा. निशा सिंह यादव द्वारा सितार वादन की प्रस्तुति के साथ होगा।